RBSE 10th Result 2020, जल्द हो सकती है तारीख की घोषणा


RBSE 10th Result 2019: राजस्थान बोर्ड 10वीं ...

राजस्थान सेकेंडरी शिक्षा बोर्ड जल्द ही 10वी की परीक्षाओं का परिणाम घोषित कर सकता है. विभिन्न मीडिया सोर्सेज के अनुसार आर बी एस ई इस जुलाई के अंत तक 10वी के परीक्षा परिणाम घोषित करने पर विचार कर रहा है, हालांकि इसे लेकर अभी कोई आधिकारिक घोषणा नहीं की गयी है.
माध्यमिक शिक्षा बोर्ड की आधिकारिक वेबसाइट rajresults.nic.in पर ही रिजल्ट की घोषणा की जाती है. ज्ञात रहे कि इस साल लगभग 11 लाख से अधिक छात्रों ने परीक्षा में भाग लिया था और लॉक डाउन के चलते कुछ पेपरों की परीक्षा स्थगित की गयी थी जिसे बाद में जून में आयोजित किया गया था. सामाजिक विज्ञान और गणित की परीक्षा 29 और 30 जून को आयोजित की गयी थी.

यहाँ देखे अपना रिजल्ट
राजस्थान सेकेंडरी एजुकेशन बोर्ड की आधिकारिक वेबसाइट के लिए यहाँ क्लिक करे
राजस्थान सेकेंडरी एजुकेशन बोर्ड के रिजल्ट पोर्टल के लिए यहाँ क्लिक करे

Daily News Alerts ke liye hame subscribe kare.

CBSE 10th result 2020: आज घोषित होगा सीबीएसई 10वीं रिजल्ट, Check live at cbseresults.nic.in


cbse

सीबीएसई कक्षा 10 वी का रिजल्ट आज घोषित किया जायेगा, कल मानव संसाधन विकास मंत्री रमेश पोखरियाल निशंक ने इसकी घोषणा ट्वीट करके की थी.

Tweet by Hon’ble Minister.

इस साल लगभग 18 लाख बच्चों ने परीक्षा दी थी. छात्र अपना परिणाम cbse.nic.in, cbseresults.nic.in और results.nic.in इन पर चेक कर सकेंगे. इसके अलावा परीक्षार्थी अपना रिजल्ट UMANG App और DigiResults पर भी चेक सकेंगे.

मंडावा कनेक्ट सभी विद्यार्थियों को उज्जवल भविष्य की कामना करता है.

कौन बनेगा राजस्थान की राजनीति का पायलट?


राजस्थान की राजनीती में मचे भूचाल के बीच एक बात तो साफ हो चली है की जनता चाहे किसी भी नेता को या किसी पार्टी को वोट देकर विधानसभा में भेजे, लेकिन राजनितिक महत्वाकांक्षा के चलते आजकल के सभी नेतागण अपने सिद्धांतो, मूल्यों के साथ समझौता करने से गुरेज नहीं करते है.
ताजा उदाहरण राजस्थान की सत्ताधारी पार्टी कांग्रेस का है जहां मुख्यमंत्री अशोक गहलोत और सचिन पाइलट के बीच चल रही नाराजगी अचानक खतरनाक मोड़ पर पहुँच गयी जब सचिन पायलट ने बागवती तेवर दिखा दिए. उन्होंने दावा किया कि 30 विधायक उनके समर्थन में है और वर्तमान सरकार अल्पमत में है.

जिद पर अड़े सचिन पायलट, CM गहलोत के साथ काम करने से किया साफ इनकार: सूत्र

हालाँकि मंगलवार को सत्ताधारी पार्टी ने राज्यपाल से मुलाकात करके अपने समर्थन में 106 विधायकों की परेड करवा कर ये दिखा दिया कि वर्तमान में राजस्थान में कांग्रेस की सरकार बनी रहेगी.

आखिर सचिन पायलट ने बगावत क्यों की?
दरअसल अशोक गहलोत और सचिन पायलट में मनमुटाव 2018 के चुनावो के बाद ही हो गया था जब आलाकमान ने युवा नेतृत्व को तरजीह न देते हुए लोकसभा चुनावों को मद्देनजर रखते हुए अशोक गहलोत को मुख्यमंत्री बना दिया था. साथ ही सचिन पायलट को उपमुख्यमंत्री पद देकर विवाद को शांत करने की कोशिश की गयी थी. तब से लेकर इन दोनों नेताओं के बीच तनाव की खबरें आती रही है. सचिन पायलट जहा समय समय पर इस बात का आरोप लगते रहे है की राजनीतिक मामलो, खासकर महत्वपूर्ण मसलों, नियुक्तियों और तबादलों में उनकी राय नहीं ली जाती है और ऐसे में उनके उपमुख्यमंत्री पद पर बने रहने का कोई मतलब नहीं है.

तो क्या कांग्रेस सरकार पर से खतरा टल गया है?
मौजूदा हालातों को देखते हुए ऐसा नहीं लगता है. भले ही कांग्रेस सरकार बहुमत का दावा करे लेकिन ये बात भी जग जाहिर है कि अब इन दोनों नेताओं के बीच का मनमुटाव ज्यादा ही बढ़ेगा. और इस बात पर भी भरोसा नहीं किया जा सकता कि मौजूदा हालात में दोनों नेता आखिर किस प्रकार सहमति के आधार पर मिलजुल कर सरकार चलाते रहेंगे क्योंकि अगर ऐसा ही होता तो आज राजस्थान की राजनीती को ये दिन नहीं देखने पड़ते.

आखिर बी जे पी क्यों खामोश है?
भारतीय जनता पार्टी ने शुरू से ही इस मामले में आत्मसयम बरता है और कोई महत्वपूर्ण राजनीतिक बयान नहीं दिया है. शुरू में बीजेपी के कुछ नेताओं पर खरीद फरोख्त करने का आरोप लगा था और उनके खिलाफ मुकदमे भी दर्ज किये जाने की खबरे आई थी पर बाद में ये संकट अशोक गहलोत बनाम सचिन पायलट में बदल गया. भारतीय जनता पार्टी इस बार वेट एंड वाच की स्थिति में नजर आ रही है भले ही भीतरखाने कुछ भी चल रहा हो. शायद ये भी हो सकता है कि बीजेपी इसे संकट को अवसर में बदलने का प्लान भी बना रही हो. इससे पहले भी महाराष्ट्र, गोवा और कर्नाटक में भी इस तरह का सियासी ड्रामा देश ने देखा है.

तो राजस्थान की जनता क्या समझे इस संकट से?
सभी राजनैतिक दलों की ये कभी नहीं भूलना चाहिए कि जनता उन्हें सेवा करने के लिए चुनकर भेजती है ना की सरकारों के गिरने और बदलने के खेल खेलने के लिए. क्योंकि एक बात तो साफ़ है की इसका खामियाजा सीधे जनता को भुगतना पड़ता है जब नेता अपनी निजी महत्वाकांक्षा के चलते हुए अपना बक्त बर्बाद करते है. साथ ही कांग्रेस के आलकमान को भी इस बात को समझना चाहिए की इस गुटबाजी के चलते पार्टी इस वक्त अपने सबसे बुरे दौर से गुजर रही है. इस तरह के संकटों को दूर करना पार्टी के आलाकमान का दायित्व है लेकिन लंबे समय से कांग्रेस पार्टी अपने अध्यक्ष पद के मामले को तय नहीं कर पा रही है तो इस संकट को कैसे हल करेगी. ये इस वक्त एक बड़ा सवाल है.

RBSE 12th Commerce Results 2020: राजस्थान बोर्ड 12वीं कॉमर्स का रिजल्ट जारी, यहाँ पर देखे: rajresults.nic.in


राजस्थान बोर्ड की 12वीं कक्षा की कॉमर्स स्ट्रीम का रिजल्ट सोमवार 13 जुलाई को जारी कर दिया गया. इस साल 36 हज़ार से भी ज्यादा विद्यार्थियों ने भाग लिया था, जिसमे 94.49 पर्तिशत पास हुये है | हर बार की तरह इस बार भी लड़कियों ने बाजी मारी और 96.94 प्रतिशत लेकर वे पहले स्थान पर है वही लड़को का प्रतिशत 93.18 रहा
ऐसे चेक करें रिजल्ट
1 : राजस्थान बोर्ड की आधिकारिक वेबसाइट rajresults.nic.in पर जाएं.
2 : 12वीं कॉमर्स के रिजल्ट के विकल्प पर क्लिक करें.
3 : रोल नंबर समेत अन्य विवरण दर्ज करें.
4 : सबमिट बटन दबाते ही रिजल्ट आपकी स्क्रीन पर खुल जाएगा.


अमिताभ बच्चन को कोरोना, नानावटी अस्पताल में भर्ती।


कोरोना से कोई नही बच सकता, बॉलीवुड के महानायक अमिताभ बच्चन को भी कोरोना हो गया है. आज जैसे ही अमिताभ को कोरोना होने की खबर आयी, पुरी मीडिया मे हंगामा मच गया, हर कोई इस पर बात कर रहा है.

अमिताभ ने अपने ट्विट्टर हैंडल से ट्वीट करके इसकी जानकारी दी

खबरों के मुताबिक, अभिषेक बच्चन भी कोरोना पॉजिटिव पाये गए है. बाकि बच्चन परिवार की नेगेटिव रिपोर्ट आयी है.

अमिताभ ने अपने सम्पर्क में आने वाले सभी लोगो को भी अपना टेस्ट करवाने की सलाह दी है.

मंडावा कनेक्ट सदी के महानायक श्री अमिताभ बच्चन साहब के अच्छे स्वास्थ्य की कामना करता है और उम्मीद करता है कि जल्द ही वे कोरोना को हरा कर सबके सामने आयेंगे ।

A WordPress.com Website.

Up ↑