बैंक लोन में सिबिल का खेल, जानिए लोन लेने से लेकर चुकाने और उसके बाद तक की सावधानियाँ


“ऋण, शत्रु और रोग को जितना जल्दी हो समाप्त कर देना चाहिए” – चाणक्य

राजनीति के महान ज्ञाता चाणक्य के उपरोक्त कथन का सार ये है की इंसान को ऋण लेकर उसे जितना जल्दी हो सके चुकाने का प्रयास करना चाहिए, अगर कोई आपका शत्रु है तो उसे जल्दी से मिटा देना चाहिए और अगर आप पर कोई रोग आ गया है तो उसे दवा के जरिये तुरंत ख़तम कर देना चाहिए।

ठीक इसी तरह आजकल के ज़माने में लोग बैंक से लोन तो ले लेते है लेकिन उसे चुकाने में बहुत मुश्किल होती है। लेकिन इसके उलट हुआ हरियाणा के पानीपत के रहने वाले राजकुमार के साथ! राजकुमार ने साल 2015 में 20 हज़ार का लोन लेकर चाय का व्यवसाय शुरू किया था और उसका कुछ भाग चूका भी दिया था। इस साल उसका चाय की दुकान कोरोना के कारण बिलकुल बंद हो गयी और जब घर चलने में मुश्किल होने लगी तो उसने फिर से लोन लेने का निर्णय किया।
उसने एक फाइनेंस कंपनी के जरिये लोन अप्लाई किया लेकिन वो उस समय हैरान रह गया जब फाइनेंस कंपनी ने उसका लोन ये कह कर रिजेक्ट कर दिया की उसपर पहले से ही 16 लोन चल रहे है और उनका लगभग 51 करोड़ रूपया बकाया है।

जब उसने अपना सिबिल स्कोर चेक करवाया तो उसे पता लगा की उसके नाम से 16 अलग अलग लोन चल रहे है जिनमे क्रेडिट कार्ड से लेकर ट्रेक्टर तक का लोन दिखाया गया गया है।
खैर ये तो वो मामला है जो हमारे सामने इसलिए आया क्योंकि लोन का अमाउंट बहुत बड़ा था लेकिन जरा सोचिये क्या अपने कभी अपना सिबिल स्कोर चेक किया है? कही ऐसा तो नहीं की आपके नाम से भी कोई लोन चल रहा हो और आपको इसकी खबर भी न हो !

क्या है सिबिल स्कोर ?

What is CIBIL Masking? - The Square Times

भारत की पहली आधिकारिक सिबिल स्कोर प्रोवाइडर ट्रांसयूनियन सिबिल लिमिटेड के अनुसार:

ट्रांसयूनियन सिबिल लिमिटेड भारत की पहली क्रेडिट इन्फॉर्मेशन कंपनी है जिसे सामान्य रूप से क्रेडिट ब्यूरो भी कहा जाता है, हम व्यक्तियों और गैर-व्यक्तियों (वाणिज्यक निकायों) के लोन और क्रेडिट कार्डस से संबंधित भुगतानों के रेकार्डस्‌ जुटाते और रखते हैं. ये रिकार्डस्‌ बैंको और अन्य लेंडर्स द्वारा मासिक आधार पर हमारे पास जमा किए जाते हैं. इस जानकारी का उपयोग करके क्रेडिट इन्फोर्मेशन रिपोर्ट (सीआईआर) तथा क्रेडिट स्कोर विकसित किया जाता है, जिनकी बदौलत लेंडर्स लोन आवेदनों का मूल्यांकन और स्वीकृत करते हैं. क्रेडिट ब्यूरो को आरबीआई द्वारा अनुज्ञप्त किया जाता है और क्रेडिट इन्फोर्मेशन कंपनीज़ (रेगुलेशन) एक्ट ऑफ 2005 द्वारा अधिशासित किया जाता है.

What is a CIBIL Score and How can you check it Online with Karvy ...
A score more than 750 is considered for instant loan approval

दूसरे शब्दों में “ये हमारे लोन और क्रेडिट कार्ड सम्बंधित विवरणों का रिकॉर्ड रखने वाली संस्था है जो इन्हे वित्तीय संस्थानों से प्राप्त होते है और फिर उसके आधार पर ये हर व्यक्ति की क्रेडिट रेटिंग तय करते है। जिसे हमारे लोन सम्बंधित बैंक व्यवहारों के दौरान इस्तेमाल किया जाता है।”

मेरा सिबिल स्कोर क्या मायने रखता है?
सिबिल स्कोर को चार भागो में बनता गया है और आपके द्वारा किये बैंक भुगतानो के आधार पर ऐसे 0 से 900 के बिच में तय किया जाता है। सामान्यतया 750 से 900 का स्कोर सबसे उत्तम स्कोर माना जाता है। आपका सिबिल स्कोर बैंक द्वारा आपको दिए जाने वाले लोन के लिए सबसे महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। बैंक आपका स्कोर जांचता है और अगर आपका स्कोर उत्तम श्रेणी में आता है तो आपके लोन पास होने के चान्सेस बढ़ जाते है।

मैने अपना लोन चुका दिया है अब मुझे सिबिल स्कोर से क्या लेना देना ?
जैसा की हम जानते है और अक्सर होता है कि हम अपना लोन चुकाने के बाद इस बात का ख्याल भी नहीं रखते है कि हमारे सिबिल स्कोर पर उसका क्या प्रभाव पड़ा या फिर दूसरे शब्दों में कहा जाये तो अक्सर बहुत से लोगो को ये भी नहीं पता होता है कि सिबिल स्कोर क्या होता है। बस लोग अपना लोन चुकता करके अपने आप को स्वतंत्र महसूस करते है। लेकिन असली खेल यही से शुरू होता है। क्योंकि अपने अपना पूरा लोन ईमानदारी से चुका दिया होता है इसलिए आपका सिबिल स्कोर उत्तम श्रेणी में रहता है और इसी का फायदा कुछ दलाल और बैंक के कर्मचारी मिलीभगत करके उठाते है। दरअसल बैंक को सिबिल स्कोर लोन अप्लीकेशन के साथ प्रोसेस करनी होती है और और दलाल लोग यह पर आपकी सिबिल स्कोर उस अप्लीकेशन के साथ लगा कर लोन पास करवा देते है और फिर कुछ क़िस्त भर कर उस लोन को छोड़ देते है। जब लोन कि किश्ते नहीं जाती है तो आपका सिबिल स्कोर धीरे धीरे निचे आने लगता है और एक लेवल के बाद ये उस स्तर पर आ जाता है जहा कोई भी बैंक आपको लोन नहीं देगा।

TransUnion CIBIL on Twitter: "Fraud isn't just growing — it's ...

तो मुझे कैसे पता चलेगा की मेरा सिबिल स्कोर डाउन जा रहा है ?
आप अपना सिबिल स्कोर समय समय पर चेक करते रहे। इसके लिए आपको https://www.cibil.com/ पर अपना अकाउंट बनाना पड़ेगा और इस पोर्टल के जरिये आप समय समय पर अपना सिबिल स्कोर चेक करते रहे।
गवर्नमेंट ऑफ़ इंडिया ने इस बात का प्रोविजन रखा है की सिबिल डॉट कॉम साल में एक बार हर व्यक्ति जिसका सिबिल पर खाता बना रखा है उसे मुफ्त में सिबिल रिपोर्ट प्रदान करेगा। इसके जरिये आप अपने सिबिल पर नज़र रख सकते है। साल के बीच में अगर आपको लगता है की आपका स्कोर ठीक नहीं है तो आप एक निश्चित भुगतान देकर अपनी सिबिल रिपोर्ट प्राप्त कर सकते है।

मै क्या करू अगर मेरा सिबिल स्कोर डाउन हो गया हो।
अगर आपको पता लग गया है की आपका सिबिल स्कोर डाउन हो गया है और कोई गलत लोन आपके सिबिल के साथ अटैच कर दिया गया है तो तुरंत उस बैंकिंग इंस्टिट्यूट की वेबसाइट पर जाये और उनका कस्टमर केयर ईमेल आईडी या फिर ग्रीवेंस रेड्रेसल कांटेक्ट पॉइंट को ईमेल लिखे और हाँ , आर बी आई को मेल CC करना बिलकुल न भूले।
आप देखेंगे की एक सप्ताह में वो बैंकिंग इंस्टिट्यूट आपकी ईमेल ID पर कार्यवाही करेगा। इस बात का खास ख्याल रखे की आर बी आई को इस मामले में जरूर शामिल करे वर्ना इस तरह के संस्थाए कार्यवाही में बेवजह देरी करती है।
इस तरह के उपायों से आप अपना सिबिल स्कोर उच्च स्तर पर रख सकते है।

आपको ये आर्टिकल कैसा लगा कमेंट करके जरूर बताये।


अगले आर्टिकल तक के लिए अलविदा दोस्तों ।