कंगना और शिवसेना के बीच लडाई हुई तेज, कंगना का ऑफिस तोड़ा, क्या घर भी टूटेगा?


सुशांत सिंह राजपूत मामले मे कंगना और शिवसेना के बीच ट्विट्टर के जरिये शुरू हुयी जुबानी जंग अब अगले पड़ाव पर पहुँच गयी है। आज BMC ने जब अवैध निर्माण के तहत कार्यवाही करते हुए कंगना के ऑफिस को तोड़ा तो इसपर राजनीति तेज हो गयी। जहाँ BJP ने इसे बदले की भावना के तहत की कार्यवाही बताया तो वही NCP के शरद पवार ने भी इस घटना पर प्रतिक्रिया देते हुए इसे गैरजरूरी बता दिया।

आज जब BMC कंगना के ऑफिस को तोड़ रही थी तो कंगना की तरफ से इस कार्यवाही को ‘बाबर’ और अपने ऑफिस को ‘ राम मंदिर ‘ बताते हुए इसे धार्मिक रंग भी देने की कोशिश की गयी।

कंगना का ट्वीट

उधर जैसा की अनुमान था, करणी सेना ने भी अपने कथन के अनुसार कंगना को एस्कॉर्ट करने के लिये 100 गाड़ियों का जखीरा भेज कर महाराष्ट्र में अपनी मौजूदगी का सख्त संदेश देने की कोशिश की। बाद मे करणी सेना के कार्यकर्ता मुंबई एयरपोर्ट पर पहुंच गए जहाँ पर उन्होंने उद्दव सरकार के खिलाफ नारेबाजी की और कंगना के समर्थन में जोरदार प्रदर्शन किया।

मुंबई पहुँचने के बाद कंगना ने एक विडिओ जारी कर सीधा उद्दव ठाकरे पर निशाना साधते हुए एक वीडियो जारी किया और ललकारने के अंदाज में कहा की “तुमने आज मेरा घर तोडा है कल तेरा गुरुर टूटेगा वक्त सबका आता है”
आज हुयी इस कार्यवाही में एक बात तो साफ हो गयी की मुंबई में रहकर आप सरकार के साथ पन्गा लेने की कोशिश करोगे तो अपने सत्ताबल के दम पर वहां की सरकार आपको किसी भी हद तक परेशान कर सकती है क्योकि देखने वाली बात ये है कि जो ऑफिस आ तोडा गया है वो आज से १८ महीने पहले बनकर तैयार हो गया था और चल रहा था। इस कार्यवाही को इसलिए भी गलत बताया जा रहा है क्योकि मुंबई में इस तरह के तथाकथित बहुत से अवैध निर्माण मौजूद है और BMC ने खास तौर पर इसे निशाना बना कर कार्यवाही की है।

सौ बात की एक बात
इस पुरे प्रकरण में देखने वाली बात ये है कि जिस सुशांत सिंह राजपूत मामले से शुरू हुआ ये विवाद अब एक नए मोड़ पर पहुँचता दिखाई पड़ रहा है। ये सरकार की तरफ से उन सब बातो पर पर्दा डालने का भी प्रयास हो सकता है जिसमे बहुत बड़े दिग्गजों के नाम सामने आने वाले थे। दूसरा सुशांत को न्याय दिलाने की ये लड़ाई अब कितनी लंबी चलेगी ये भी देखना दिलचस्प होगा।
इन सब बातो से भी बढ़ कर परेशान करने वाली बात ये है कि अगर किसी घर में उसका मालिक मौजूद न हो तो क्या एक नोटिस चिपका कर उस घर को धराशायी किया जा सकता है ? घर से याद आया कि अब कंगना के घर के कुछ हिस्से को अवैध निर्माण का हवाला देकर तोड़ने कि कार्यवाही कि बात भी सामने आ रही है जिस से ये साबित हो रहा है कि ये सचमुच एक बदले कि भावना के तहत कि गयी कार्यवाही है। कम से कम इन हालातो में ये बात और सही साबित होती दिख रही है।

Story: Surendra Singh Tetara
Image and Video: Twitter

One-Time
Monthly
Yearly

Make a one-time donation
We need your help to run this site

Make a monthly donation

Make a yearly donation

Choose an amount

$5.00
$15.00
$100.00
$5.00
$15.00
$100.00
$5.00
$15.00
$100.00

Or enter a custom amount

$
——

Your contribution is highly appreciated.

Your contribution is appreciated.

Your contribution is appreciated.